बेवफा शायरी

रातो मे यू ख्वाब सजाये है
बेवफा को सनम बनाये है
के नीद से जागा भी नही
अभी वो हमारे दरवाजे पर आये है
Writer ; SAFAHAT MIRZA  

Comments

Popular posts from this blog

नजरअंदाजी 2019 | नजरअंदाजी बेवफा शायरी | बेवफा शायरी

जज्बात शायरी इन हिंदी | जज्बात गज़ल शायरी इन उर्दू | जज्बात 2019 | Latest Shayari