इश्क शायरी in Hindi 2019



      इश्क है तमाशा नही
गुमसुम लेटा है वो जनाजा नही
के दिल ये पत्थर है कोई मोम नही
इल्जाम लगाया है मुझ पर हम भी
          कोई चोर नही
Writer ; SAFAHAT MIRZA 

Comments

Popular posts from this blog

नजरअंदाजी 2019 | नजरअंदाजी बेवफा शायरी | बेवफा शायरी

जज्बात शायरी इन हिंदी | जज्बात गज़ल शायरी इन उर्दू | जज्बात 2019 | Latest Shayari