मरहम । शायरी हिन्दी 2019

मरहम । शायरी हिन्दी 2019

मरहम शायरी हिन्दी 2019
मरहम शायरी हिन्दी 2019

शायरी हिन्दी 

उसकी मोहब्बत मे जो काटें निकाले
वो भी मुझ को आज मरहम लगने लगे
Writer;  Safahat Mirza 

Comments

Popular posts from this blog

नजरअंदाजी 2019 | नजरअंदाजी बेवफा शायरी | बेवफा शायरी

जज्बात शायरी इन हिंदी | जज्बात गज़ल शायरी इन उर्दू | जज्बात 2019 | Latest Shayari

गलतफहमी बेवफा शायरी इन हिन्दी | बेवफा शायरी 2019