नजरअंदाजी 2019 | नजरअंदाजी बेवफा शायरी | बेवफा शायरी

नजरअंदाजी 2019 


Nazarandaazi,  Nazarandaazi Bewafa Shayari
Nazarandaazi

नजरअंदाजी बेवफा शायरी हिन्दी 

नजरअंदाजी मे छिपा इकरार है
मुझे उस से प्यार है
जान की बाजी लगाई मैने
मालुम है इसमे मेरी हार है

दिल रख लिया उसने मेरा
अब वो हमारा सनम यार है
खफा नही मै हार से
हम दोनो के बीच ये करार है

दे गई आँसू सफाअत
पाक रिश्ते मे ये कैसी दरार है
Writer ; Safahat Mirza 

Shayari Hindi 

Comments

Popular posts from this blog

Whatsapp Shayari in Hindi